Blood Group Paper Strip Test

सिर्फ 30 सेकंड में – पेपर स्ट्रिप करेगी आपके ब्लड ग्रुप का निर्धारण

A, B, AB या O ?

क्या आप जानते हैं आपका ब्लड ग्रुप क्या है?

जल्द ही एक त्वरित और आसान टेस्ट आपको और अस्पतालों को आपातकाल में तुरंत यह सब बताने में सक्षम होगा। जब भी आपको ब्लड(खून) की जरुरत होती है तब ये जानना अत्यंत आवश्यक होता है की आपका ब्लड  किस प्रकार का है, अन्यथा गलत प्रकार का ब्लड चढ़ाने से आपके रोग प्रतिरोधक तंत्र का व्यवहार बदल जाता है जो की कभी-कभी मृत्यु का कारण बनता है।

अभी लेब आधारित विधियों से ब्लड ग्रुप निर्धारण में 10 से 20 मिनट का समय लगता है और जिसमे आपको ब्लड का नमूना लैब तक पहुचाना पड़ता है। इसी वजह से अधिकतर आपातकाल विभाग केवल ‘O’ प्रकार के ब्लड का ज्यादा स्टॉक रखते है, जो की सुरक्षित तरीके से किसी को भी दिया जा सकता है क्योंकि इसमें वे एंटीजन नहीं होते जो प्रतिरोधी क्रियाओ को शुरू कर सके. लेकिन इससे ‘O’ ब्लड की सप्लाई पर अत्यधिक दबाव पड़ता है।

हाल ही में चीन के थर्ड मिलिट्री मेडिकल यूनिवर्सिटी के एक वैज्ञानिक दल ने एक ऐसा पेपर आधारित ब्लड टेस्ट विकसित किया है जिसे बड़ी आसानी और फुर्ती से रोगी के पास ही बिना किसी विशेष यंत्र और प्रशिक्षण के टेस्ट किया जा सकता है। इस प्रकार यह टेस्ट हॉस्पिटलो को रोगी से सम्बद्ध ब्लड ग्रुप – चाहे वो ‘A’, ‘B’, ‘AB, या ‘O’ हो, तथा ज्यादा प्रकार के ब्लड प्रकारों की सप्लाई को जीवंत रखने ने सहायक होगा।

यह टेस्ट लाल रक्त कोशिकाओ की सतह पर मौजूद एंटीजन पर निर्भर करता है। ‘A’ ब्लड प्रकार में लाल रक्त कोशिकाओं पर ‘A’ एंटीजन, ‘B’ में ‘B’ एंटीजन, ‘AB’ में दोनों एंटीजन उपस्थित, तथा ‘O’ में कोई भी एंटीजन उपस्थित नहीं होते। एक अन्य प्रकार के एंटीजन ‘D’ की उपस्थिति यह निर्धारित करती है की ब्लड प्रकार ‘पॉजिटिव’ (+) अथवा ‘नेगेटिव’ (-) है, जिसे रिसस ‘पॉजिटिव’ (+) अथवा ‘नेगेटिव’ (-) कहा जाता है।

ब्लड में एंटीबाडी भी होते है, जो जैविक और अजैविक एंटीजन को ढूंढ कर उन्हें ख़त्म करने का काम करते हैं। यदि उन्हें किसी बाह्य लाल रक्त कोशिका के एंटीजन की उपस्थिती का पता चलता है तो वे एक जबरदस्त रोगप्रतिरोधी प्रतिक्रिया स्थापित कर देते है।

चीनी वैज्ञानिक होंग झेंग की पेपर स्ट्रिप एंटीबाडी के आव्यूह तथा रंजक के साथ संतृप्त है, और जब भी ब्लड की एक बूंद स्ट्रिप पर निर्धारित जगह पर डाली जाती है, तो ब्लड स्ट्रिप के हर और फैलता है और एंटीबाडी के साथ क्रिया करता है और फिर रंगों के वर्ग बनते है।

प्रत्येक एंटीजन – ‘A’, ‘B’ और ‘D’ के उपस्थित होने पर एक चैती रंग का (नीले व हरे रंग के मध्य) वर्ग दिखाई पड़ता है और भूरे रंग का वर्ग दिखाई दे तो वह उपस्थित नहीं है।

जब इसका 3550 मानव ब्लड नमूनों पर परिक्षण किया गया तो कम लागत की यह स्ट्रिप 99.9 प्रतिशत सटीक पाई गयी और टेस्ट पूरा करने में मात्र 30 सेकंड का समय लगा।

झेंग के अनुसार इस पेपर स्ट्रिप को युद्ध स्थलों और ऐसे दूरस्थ इलाको में उपयोग किया जा सकता है जहाँ आस पास कोई लैब नहीं है। जहाँ अभी ‘O’ ब्लड इस्तेमाल किया जाता है लेकिन सप्लाई सीमित है।

झेंग के अनुसार आने वाले एक से दो सालो में यह उत्पाद कम लागत के साथ उपलब्ध हो सकता है।

स्त्रोत – न्यू साइंटिफिक में ऐलिस क्लीन द्वारा लिखे लेख से प्रेरित

Comments

  1. Ravindra Sharma says:

    Hey There. І found your blog using MSN. This is a really welⅼ written articⅼe.
    I will make sᥙre to bookmark, it and return to read more of your useful information. Thanks for the post. I will certainly return.

Leave a Reply to Ravindra Sharma Cancel Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *